250 Income Tax अधिकारियों ने 390 करोड़ की मारी रेड,120 गाड़ियों का निकला काफिला, बिल्कुल फ़िल्मी स्टाइल में मारा छापा!

Income Tax Raid: आपने स्पेशल 26 फिल्म तो देखी ही होगी, जिसमें अक्षय कुमार अपने कुछ साथियों के साथ नकली इनकम टैक्स अधिकारी (Income Tax Officer) बनकर व्यापारियों के यहां रेड मारता है। इसी फिल्म की तरह एक गैंग ने इनकम टैक्स अधिकारी बनकर कई जगह रेड मारी।

इस Gang ने व्यापारियों से बहुत सारा रुपया लूट लिया। और यह Gand ज़ब अगली लूट करने जा रहा था तो Checking के समय Agra Police ने Gang के सदस्यों दबोच लिया। पर हम यहां आपको असली Raid के बारे बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में जानकर आपको शायद यकीन नहीं होगा।

आपने रेड के इतिहास में ऐसी छापेमारी शायद ही देखी होगी। यह रेड महाराष्ट्र के दो बिजनेस मैन पर की गई थी। इस रेड में करीब 250 इनकम टैक्स अधिकारी शामिल थे।

बिल्कुल फिल्मी थी Income Tax की ये रेड

साल 2022 की बात है। महाराष्ट्र के जीएसटी काउंसिल और Income Tax Department को एक-साथ जानकारी मिलती है कि दो बड़े स्टील निर्माता ग्रुप बड़े पैमाने पर Income Tax की चोरी कर रहे हैं। अधिकारियों को जानकारी मिली कि ये ग्रुप रिएल एस्टेट से लेकर कपड़े तक का बिजनेस करते हैं।

रिपोर्ट में सामने आया कि दोनों Businessman के द्वारा पूरे 120 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी की गई थी। इसकी सारी जानकारी इनकम टैक्स विभाग को दी गई और इस मामले की जांच करने के लिए कहा गया। इसके बाद Income Tax विभाग के सभी अधिकारी जांच पर लग गए।

दोनों ग्रुप के ट्रांजैक्शन को चेक किया गया, जिसमें बड़ी जानकारी सामने आई। अधिकारियों को पता चला कि कर्मचारियों के नाम पर लॉकर खोले गए थे। अधिकारियों को पता चला की यहां फर्जी ट्रांजैक्शन हो रहे हैं और बड़े स्तर पर चोरी की जा रही है।

इसके बाद रेड डालने का प्लान बनाया गया। रेड करना बिल्कुल फ़िल्मी था और किसी को भी इसका अंदाजा नहीं था।अधिकारियों ने रेड का दिन और समय का चुनाव किया। अधिकारियों को एक-साथ ही दोनों ग्रुप के घर, ऑफिस समेत कई जगहों पर रेड करनी थी।

अधिकारियों को सबकुछ सीक्रेट रखना था। यह मामला महाराष्ट्र के जालना का था। ऐसे में अधिकारियों को डर था कि अगर इसके बारे किसी को भनक लग गई तो सारा मिशन बेकार हो जाएगा।

Raid मारने का एकदम अलग प्लान बनाया गया

अधिकारियों ने सबसे पहले अलग-अलग लोकेशन को चुना कि कहां रेड करनी है। इसके लिए 250 अधिकारियों की टीम बनाई गई। इसमें  इनकम टैक्स अधिकारियों के अलावा पुलिसकर्मी भी शामिल थे। रेड करने के लिए जाने के लिए कुल 120 गाड़ी जानी थी।

ऐसे में अधिकारियों ने बारातियों वाले कपड़े पहनें।  यानी एक बारात का माहौल बनाया। इसमें पुरुष और महिला दोनों शामिल थे। गाड़ियों को सजाया गया था। गाड़ियों में दुल्हन हम ले जाएंगे पोस्टर लगे हुए थे। वहीं कुछ गाड़ियों में राहुल वेड्स अंजलि के पोस्टर लगे थे।

रेड की तारीख 3 अगस्त 2022 थी। सभी गाड़ियां जालना की तरफ रवाना हो गईं। जालना पहुंचने से पहले एक जगह गाड़ियों को पांच हिस्सों में बांट दिया गया। यही से जालाना पुलिस भी शामिल हो गई। इनकम टैक्स विभाग की टीम बाराती बनकर दोनों बिजनेस के फैक्ट्री के दफ्तर, वेयरहाउस और बंगलों तक पहुंच गए।

टीम को उम्मीद थी यहां उन्हें काफी कुछ मिलेगा, लेकिन वहां कुछ खास नहीं मिला। टीम को सिर्फ कुछ जेवर पैसे मिले। तभी ऑफिस में पहुंची टीम को मिले दस्तावेजों में एक फार्महॉउस की जानकारी मिली। इसे लोकेशन में नहीं शामिल किया गया था। इसके बाद अधिकारी फार्म हाउस पहुंचे जहां उनके होश उड़ गए।

ताजा अपडेट- आज ही करा लें SBI की 400 दिनों वाली FD, अब मिलेगा पहले से ज्यादा फायदा, एफडी लेने पर मालामाल होकर रहेंगे

अधिकारियों को फार्म हाउस में कैश, ज्वेलरी और दस्तावेज सहित बहुत कुछ एक गुप्त कमरे की दीवारों, जमीन और सीलिंग से मिलीं। Income Tax की Team को खूफ़िया कमरे से 58 Crore नगदी रुपया, 14 Crore की सोने-चांदी की ज्वेलरियां मिली। मिले डाक्यूमेंट्स से पता चला कि कर्मचारियों के नाम से भी अकाउंट खोले गए हैं।

सारी संपत्ति को जोड़ा गया तो पूरे 390 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति बनी। विभाग ने इसे सीज कर दिया। संपत्ति को गिनने के लिए स्टेंट बैंक ऑफ इंडिया जालना की मदद ली गई। पूरी संपत्ति का पता लगाने के लिए पूरे 11 घंटे का समय लगा था।

ताजा अपडेट- iPhone की शानो-शौकत खत्म करने के लिए Oppo ने ला दिया धाकड़ 5G स्मार्टफोन, कैमरा क्वॉलिटी और बैटरी एकदम बेहतरीन

अलग-अलग लोकेशन पर की छापेमारी

Income Tax Department की Team ने 3 August से लेकर 9 August तक 2 Groups बनाकर के अलग-अलग Location पर लगभग 20 स्थानों पर Raid मारी। महाराष्ट्र के Aurangabad में 7 स्थान, Nasik, Mumbai, Pune में 1-1 स्थान पर Raid की। Income Tax Department ने प्रेस रिलीज करके कहा कि शुरूआती जांच में सामने आया है,

कि इन दोनों ग्रुप ने बड़े स्तर पर चोरी की। यह रेड ऐसी थी जिसकी जानकारी बाहर नहीं गई। बिजनेस मैन को भी भनक नहीं लगी। देखा जाए तो यह रेड बिल्कुल फ़िल्मी स्टाइल में की गई थी।

ताज़ा अपडेट: सोलर पैनल के लिए सरकार ने शुरू किया रजिस्ट्रेशन, अब Post Office में जाकर आसानी से ऐसे करवाएं