चुनाव खत्म होते ही अरविंद केजरीवाल ने तिहाड़ जेल में सरेंडर किया, राजघाट गए और बोले जेल में मुझे…

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (AAP) के चीफ अरविंद केजरीवाल ने रविवार को तिहाड़ जेल में सरेंडर कर दिया। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की तरफ से उन्हें अंतरिम जमानत दी गई थी। आज दोपहर को सरेंडर करने से पहले अरविंद केजरीवाल कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर और कनॉट प्लेस गए।

जानकारी के मुताबिक, अरविंद केजरीवाल के तिहाड़ जेल में जाने से पहले उनका मेडिकल चेकअप होगा। इसमें उनका शुगर लेवल, बीपी और वजन की जांच होगी। जैसी जानकारी मिली उसी के अनुसार, अरविंद केजरीवाल ने घर से निकलते समय माता-पिता से आशीर्वाद लिया और बच्चों को गले लगाया। इसके बाद राजघाट गए और महात्मा गांधी की समाधि पर पुष्पार्पित किए। अरविंद केजरीवाल और आप नेता संजय सिंह के साथ अन्य लोग हनुमान मंदिर जाकर प्रार्थना की।

Lok Sabha Elections 2024: I.N.D.I.A को मिलेंगी 295 सीटें, राहुल गांधी ने कहा, अखिलेश यादव ने तो ‘क्रोनोलॉजी’ समझा डाली

इससे पहले सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर अरविंद केजरीवाल ने एक पोस्ट शेयर की, जिसमें उन्होंने लिखा- माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मैं 21 दिन चुनाव प्रचार के लिए बाहर आया। माननीय सुप्रीम कोर्ट का बहुत बहुत आभार। आज तिहाड़ जाकर सरेंडर करूंगा। दोपहर 3 बजे घर से निकलूंगा। पहले राजघाट जाकर महात्मा गांधी जी को श्रद्धांजलि दूंगा। वहां से हनुमान जी का आशीर्वाद लेने कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर जाऊंगा। और वहां से पार्टी दफ़्तर जाकर सभी कार्यकर्ताओं और पार्टी के नेताओं से मिलूंगा। वहां से फिर तिहाड़ के लिए रवाना होऊंगा। आप सब लोग अपना ख़्याल रखना। जेल में मुझे आप सबकी चिंता रहेगी। आप खुश रहेंगे तो जेल में आपका केजरीवाल भी खुश रहेगा। जय हिन्द!

Weather Update Today: कुछ राज्यों में बारिश देगी राहत, पर यहां पर जारी रहेगा गर्मी का कहर

इसी के बाद आप नेता गोपाल राय ने बोला कि, जिस हिसाब से दिल्ली द्वारा चुने गए मुख्यमंत्री को गिरफ़्तार किया गया। चुनाव प्रचार के लिए सुप्रीम कोर्ट की तरफ से उन्हें अंतरिम ज़मानत दी गई थी। अब आज अरविंद केजरीवाल दोबारा जेल पहुंच गए। अब हमे उम्मीद है कि वो दोबारा जेल से वापस आएंगे।

वहीं बीजपी ने अरविंद केजरीवाल के विरोध में राजघाट पर पहुंचकर प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन में दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा भी थे और नारेबाजी कर रहे थे। जिस समय अरविंद केजरीवाल राजघाट पहुंचे उस समय बीजेपी के कार्यकर्ता बाहर प्रदर्शन कर रहे थे।