खूबसूरत सब-इंस्पेक्टर आरजू ने की आत्महत्या, नोट में लिखी वजह जानकर हर कोई हैं हैरान

सब-इंस्पेक्टर आरजूबुलंदशहर. उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के अनोपशहर कोतवाली थाने में तैनात सब-इंस्पेक्टर आरजू पवार (30) ने शुक्रवार रात कथित तौर पर खुद को मार डाला। बुलंदशहर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) संतोष कुमार के मुताबिक, एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है।

जिसमें लिखा है कि यह मेरे करनी का फल है। जो भगवान ने मुझे दिया हैं, उसने खुद को दोषी ठहराया है। उसने कथित तौर पर शुक्रवार रात अपने किराए के घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वह शामली जिले की रहने वाली थी।

वह 2015 में पुलिस बल में शामिल हुईं। सिंह ने कहा कि वह अनूप नगर पुलिस स्टेशन में तैनात थीं। पुलिस ने उसके घर का दरवाजा तोड़ा और शव बरामद किया। वह किराए के मकान में अकेली रहती थी। मौके पर पहुंची फोरेंसिक टीम ने नमूने लिए,

वैक्सीन नही, लाल चींटी की चटनी से ठीक होगा कोरोना, आयुष मंत्रालय जल्द दे सकता हैं मंजूरी!

और उसे जांच के लिए प्रस्तुत किया। मकान मालिक को जब शक हुआ जब सब-इंस्पेक्टर आरजू पवार जवाब नहीं दे रही थी। शुक्रवार रात उनके द्वारा कई फोन किए गए। मकान मालिक ने फिर दरवाजा चेक किया और खटखटाया। उन्होंने पुलिस को बताया,

कि दरवाजा अंदर से बंद था और उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। महिला सब-इंस्पेक्टर आरजू द्वारा लिखे हुए सुसाइड नोट में किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया है। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने पूरे मामले की फोटो खींची।

वह करीब 7 बजे ड्यूटी से लौटी थी, लेकिन रात के 9 बजे तक महिला सब-इंस्पेक्टर आरजू खाना खाने के लिए कमरे से बाहर नहीं निकली थी।

कोरोना टीका कैसे लगता हैं, लगवाने के बाद कैसा महसूस होता हैं? जिसने लगवाई उससे सुन लें