वाहन चलाने वाले One Vehicle, One Fastag नियम पता कर लें, हाईवे से जाने पर अब क्या होगा

Fastag

नई दिल्ली: नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) की तरफ से फास्ट टैग (FASTag) को लेकर नया नियम लागू किया गया है। NHAI ने 1 अप्रैल से One Vehicle, One FASTag नियम लागू कर दिया है। इसे लागू करने का मकसद सिर्फ एक फास्टैग के इस्तेमाल को बढ़ावा देना है।

दरअसल कई बार लोग एकसाथ कई फास्ट टैग इस्तेमाल करते हैं और सभी से पेमेंट होती है। अब एक वाहन, एक फास्टैग’ नियम के आ जाने के बाद  अधिकारियों का कहना है कि अब एक से अधिक फास्ट टैग का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। अधिकारियों का कहना है कि जिन लोगों के पास एक ही वाहन के लिए एक से ज्यादा फास्ट टैग हैं वो आज यानी 1 अप्रैल 2024 से उन सब का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे।

अभी हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (PPBL) को बंद करने का फैसला किया था। इसके बाद यूजर्स को 15 मार्च तक अपने खाते को दूसरे बैंकों में ट्रांसफर करने के लिए कहा था। इसका असर Paytm FASTag पर भी पड़ा। हालांकि NHAI ने Paytm FASTag यूजर्स की परेशानियों को देखते हुए One Vehicle, One FASTag नियम को मानने का समय मार्च के अंत तक बढ़ा दिया था। पर नया फाइनेंशियल ईयर शुरू होने के साथ NHAI ने यह नियम लागू कर दिया।

मारुति की नई ब्रेजा देखी आपने, मिलेगा 17.38 kmpl का माइलेज और मॉडर्न फीचर्स

आपको जानकारी के लिए बता दें कि देशभर के नेशनल हाइवे और एक्‍सप्रेसवे पर FASTag के जरिए टोल टैक्स लिया जाता है। यह सिस्टम भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) कंट्रोल करता है। आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में मौजूदा समय में लगभग 8 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं। इससे टोल मालिक से जुड़े प्रीपेड या बचत खाते से टोल पेमेंट के लिए रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (आरएफआईडी) तकनीक का इस्तेमाल करता है।

कोई बांट रहा हो साड़ी या शराब तो यहां दर्ज कराएं शिकायत, मिनटों में होगी कार्रवाई, अब तक इतने लोग कर चुके हैं शिकायत

वहीं दूसरी तरफ वाहन मालिकों से फास्ट टैग का e-Kyc करने के लिए कहा जा रहा है। बताया जा रहा है कि अगर e-Kyc  नहीं करवाई जाती है तो फास्ट टैग डिएक्टिव हो जाएगा।