आबकारी व पुलिस की बड़ी कार्रवाही, बीते 2.5 महीने में इंदौर के 112 शराब अड्डों से अवैध शराब की जप्त और मुजरिमो को पहुंचाया जेल

देपालपुर, निप्र। आबकारी व पुलिस ने 2.5 महीनों में 112 जगह से अवैध शराब पकड़ी और केस बनाए हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है गाँव-गाँव, गली-गली किस तरह से शराब बिक रही है। आबकारी उपनिरीक्षक मनीष राठौर ने 2.5 महीने में 112 जगह शराब के अवैध अड्डों पर कार्रवाई की और केस दर्ज कर मुलजिमों को जेल पहुंचाया।

महू से तबादला होकर आने पर उन्होंने चेतावनी दी थी कि अवैध शराब बैचने वाले कारोबार बंद कर दें, लेकिन आचार संहिता के बावजूद अड्डों से दिन-रात शराब बेची जा रही थी। देपालपुर, चटवाड़ा, सजवानी, रावद, खानपुरा, शिवगढ़, औरंगपुरा खड़ी, बरोदा पंथ, तकीपुरा, नौगांव, करजोदा, आगरा, धन्नड़, बेटमा, माचल, मिर्जापुर, काली बिल्लौद, खटवाड़ी रोड, खजराया रोड, बनेड़िया, बस स्टैंड, मंगलवार हाट सहित कई गांवों में कार्रवाई की।

270 लीटर कच्ची-पक्की शराब, 1324 लीटर भट्टी शराब, 100 लीटर विदेशी, 12492 किलो महुआ लहान जब्त किया, जिसकी कीमत 16 लाख रुपये से ज्यादा है। सवाल उठ रहे हैं कि सिर्फ देपालपुर में ही 2.5 महीनों में 100 जगह शराब पकड़ी गई है,

Omkareshwar से Indore चल रहे बस वालों ने भगवान ओंकारेश्वर के बैनर का किया अपमान

तो सांवेर, महू, राऊ के साथ छोटे-बड़े कस्बों के साथ गांव-गांव में शराब के अवैध अड्डे कैसे चल रहे हैं। सब इंस्पेक्टर राठौर ने देपालपुर आते ही सख्ती दिखाई और अवैध शराब पर अंकुश लगाया है। बड़े अफसर राठौर के बेहतर कार्रवाई के लिए प्रशंसा कर रहे हैं।