आजादी के इतिहास में पहली बार….. यहा से खत्म हो गई कांग्रेस के की दावेदारी, आरोप-प्रत्यारोप का दौर हुआ शुरु

राजनीति भी जो न कराए वह ठीक है। पहले क्रिकेट को अनि​श्चितता का खेल कहा जाता था लेकिन अब यह स्थान राजनीति ने ले लिया है। यहां कुछ भी असंभव नहीं है। यहां लोग खुद को 10 मिनट के अंदर बदल लेते हैं। ऐसा ही कुछ नजारा मध्य प्रदेश में देखने को मिला। जहां एक प्रत्याशी ने न सिर्फ अपना नामांकन वापिस ले लिया ब​ल्कि अपने विरोधी दल की सदस्यता भी ले ली। इस दौरान अपने ही दल के लोगों पर सहयोग नहीं करने का आरोप भी मढ दिया। अब राजनीति के गलियारे में आरोप प्रत्यारोप शुरु हो गए हैं।

दरअसल मामला मध्य प्रदेश के शहर इंदौर का है। इंदौर लोकसभा के लिए कांग्रेस पार्टी ने अपना प्रत्याशी अक्षय कांति बम को बनाया। अक्षय कांति बम ने अपना नामांकन दा​खिल कर दिया। कांग्रेस को उनके नामांकन पत्र के निरस्त होने की आशंका थी तो उसने मोती सिंह पटेल को अपना डमी प्रत्याशी घो​षित करते हुए नामांकन करा दिया। लेकिन हुआ कुछ उल्टा। यहां अक्षय कांति बम का नामांकन वैध होने से मोती सिंह पटेल का नामांकन निरस्त हो गया।

सोमवार की दोपहर मध्य प्रदेश के इंदौर में ऐसी घटना हुई जिस पर सहज ही विश्वास करना संभव नहीं होता है। लेकिन राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं है वाली कहानी इंदौर में घट गई। कांग्रेस प्रत्याशी के रुप में नामांकन करने वाले अक्षय कांति बम भाजपा विधायक रमेश मेंदौला एवं प्रदेश सरकार में मंत्री कैलाश विजयवर्गीय के साथ निर्वाचन कार्यालय पहुंचे और अपना नामांकन वापिस ले लिया। दोपहर तक इंदौर में तीन लोगों ने अपने नामांकन वापिस ले लिए हैं।

ताजा खबर: WhatsApp न हो तो इन मेसेजिंग ऐप के जरिए अपनों से जुड़े रहेंगे, देखें लिस्ट

वहीं नामांकन वापिस लेने के ​बाद भाजपा कार्यालय पहुंचे अक्षय कांति बम ने उपमुख्यमंत्री जगदीश देवडा एवं कैलाश विजयवर्गीय की मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ले ली। इस दौरान उन्हाेंने कहा कि उन्हें कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं का कोई सहयोग नहीं मिल रहा था। जिसके कारण चुनाव लडना संभव नहीं हो रहा था। वहीं कांग्रेस ने कहा कि उनके ऊपर चल रहे मामले में कोर्ट ने धाराएं बढ़ा दी थी जिसके बाद से अक्षय कांति बम दबाब में थे। वहीं किसी ने सोशल मीडिया पर लिखा लावारिस कांग्रेसी को मत छूना बम हो सकता है।

ताजा खबर: तेज आवाज में बजा रहे थे डीजे, पुलिस पहुंची तो लगा दी दौड, फिर पुलिस ने …………