मध्य प्रदेश सरकार का अहम फैसला, इतिहास की किताबों में होगा बदलाब, भारतीय नायक होंगे महान

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा इतिहास की किताबों को बदलने की तैयारी की जा रही है। इसके संकेत मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने दिए हैं। इंदर सिंह परमार के अनुसार मध्य प्रदेश के इतिहास की किताबों में भारतीय नायकों को तरजीह दी जाएगी। अब विदेशी आक्रांता महान नहीं कहलायेंग। इसके लिए तैयारियां शुरु हो गई हैं।

वर्तमान में इतिहास की किताबों में सिकंदर और अकबर को महान शासक बताया जाता है। वहीं मुगल बादशाहों के इतिहास से इतिहास की किताबें भरी पड़ी है। इतिहास की किताबों में अंग्रेजी शासन की बातों को भी बढ़ा चढ़ा कर पेश किया गया है। वर्तमान की बात करें तो पढ़ने वाले छात्र एवं छात्राएं इन्हीं किताबों को पढकर अपना ज्ञानवर्धन करते हैं। भाजपा पहले भी कई बार इस मुद्दे को उठा चुकी है।

अब इनको बदलने की तैयारी शुरु कर दी गई है। अब सिकंदर और अकबर महान नहीं होंगे। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा इतिहास की किताबों को बदलने की तैयारी कर रही है। इसके लिए इतिहासकारों को जिम्मेदारी दी गई है। मध्य प्रदेश के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि आजादी के बाद हमें गुलामी काल के इतिहास को गलत तरीके से पढ़ाया जा रहा है।

ताजा खबर: मोबाइल पर मिल रही आकर्षक छूट, 50 MP कैमरा और 5000 mAh का स्मार्टफोन 7499 रुपए हो सकता है आपका

हमारे नायकों के संघर्ष और शासन को कमतर दिखाया गया है। उन्होंने कहा कि अब सिकंदर और अकबर महान नहीं होंगे उनके स्थान पर महाराणा प्रताप, विक्रमादित्य, चंद्रगुप्त महान नहीं होंगे। भारतीय राजाओं के पराक्रम और शौर्य को इतिहास की किताबों में सम्मिलित किया जा रहा है। अब मध्य प्रदेश में छात्र और छात्राएं विदेशी आंक्रताओ की महिमा नहीं वरन भारतीय नायकों और शूरवीरों की गाथाओं को पढ़ेंगे। इसके लिए पाठ्यक्रम में बदलाव किया जा रहा है।

ताजा खबर: साउथ के इन हिल स्टेशन पर बनाएं अप्रैल में घूमने का प्लान, खूबसूरत वादियां और पहाड़ जीत मन मोह लेंगे