Important News: फोटो अपलोड करते ही होगी खुले बोरवेल को बंद करने की कार्रवाई, सीएम हेल्पलाईन पर मौजूद है सेवा

मध्य प्रदेश में आए ​दिन खुले बोरवेल में मासूम बालक या फिर बालिका के गिर जाने के समाचार आते हैं। जिनमें कई बार बच्चे की जान भी चली जाती है। इसी को रोकने के लिए मध्य प्रदेश सरकार द्वारा व्यवस्था की गई है। इसके लिए सीएम हेल्पलाइन एप्लीकेशन में नए मॉडयूल की शुरुआत की गई है। अब कोई भी व्य​क्ति खुले हुए बोरवेल की ​शिकायत या फिर जानकारी शासन तक पहुंचा सकेगा। उसके ​लिए उसके पास स्मार्टफोन का होना आवश्यक है।

गूगल प्ले स्टोर पर सीएम हेल्पलाईन एप्लीकेशन मौजूद हैं। जिसे आपको अपने मोबाइल में डाउनलोड करना होगा। उसके बाद उसमें आने वाली जरुरी जानकारी भरनी होगी। जानकारी भरने के साथ ही आपको लोकेशन भी वेरीफाई करनी होगी। सब कुछ करने के बाद आपको खुले हुए बाेरवेल का फोटो उसमें डालकर सबमिट करना होगा। सबमिट करते ही आपके द्वारा भेजी गई जानकारी सरकारी नुमाइंदों तक पहुंच जाएगी। जिसमें तुरंत कार्रवाई के लिए निर्दे​शित किया गया है।

रतलाम के जिला कलेक्टर ने पूरे मामले की जानकारी उपलब्ध कराई है। जिला कलेक्टर राजेश बाथम ने बताया कि सीएम हेल्पलाइन एप्लीकेशन में जोडे गए नए मॉडयूल्स से खुले हुए बोरवेल की समस्या को दूर कराया जा सकेगा। इसके लिए फोटो डालते ही आपकी ​शिकायत पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग एवं नगरीय विकास एवं आवास विभाग के पास पहुंच जाएगी। इसमें भी अ​धिकारी 1,2,3,4 करके नामित किए गए हैं। जिन्हें मिली हुई ​शिकायत का निपटारा करना होता है।

ताजा खबर: वायरल वीडियो में मुख्यमंत्री योगी ​आदित्यनाथ के बारे में युवक ने ऐसा क्या बोल दिया कि ढूंढने लगी पुलिस

आपको बता दें कि खुले हुए बोरवेल एक समस्या बने हुए हैं। जिनमें बच्चे गिरकर परेशानी का सबब बनते हैं। बच्चों के गिरने की सूचना पर पूरा सरकारी तंत्र एकत्रित होता है। बच्चे को बचाने के प्रयास में कई बार कई दिन लग जाते हैं। वहीं अ​धिकारियों को ग्रामीणों का आक्रोश भी झेलना होता है। स्थानीय प्रशासन के असफल होने पर सेना को भी कई बार बुलाना पडता है। इसी समस्या को देखते हुए यह शुरुआत की गई है।

ताजा खबर: व्हाट्सएप स्टेटस को आधार बनाकर कोर्ट ने इंदौर में पति-पत्नी को दिया तलाक, जानें क्या है मामला