Follow Dhruvvani News On Google News

LIC की आ गई धमाका पॉलिसी! अब सबकी होगी गारंटीड इनकम, देखें कैसे मिलेगा फायदा

LIC Jeevan Dhara Policy

LIC New Policy Jeevan Dhara: लोग हमेशा अपने भविष्य को लेकर चिंता में रहते हैं। जाहिर सी बात है कि हर किसी को अपने आने वाले भविष्य में खर्चों को लेकर चिंता रहती है। इसके लिए लोग शुरू से बचत करने लगते हैं। वैसे इसके लिए मार्केट में कई तरह के ऑप्शन उपलब्ध हैं और इनमें से आप कोई भी ऑप्शन चुन सकते हैं। पर भारतीय जीवन बीमा निगम इस मामले में एक बढ़िया ऑप्शन है। आप इसके जरिए सही से सेविंग कर सकते हैं और साथ ही आपको गारंटीड रिटर्न मिलेगा।

आपको बता दें कि भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) ने हाल ही में एक पॉलिसी को निकाला है, जिसका नाम जीवन धारा (Jeevan Dhara) है। अगर आप सालाना के हिसाब से सेविंग करना चाहते हैं तो एलआईसी की यह सबसे सुरक्षित और गारंटीड रिटर्न वाली स्कीम बढ़िया ऑप्शन बन सकती है।

ताजा अपडेट- LPG सिलेंडर 1 फरवरी से मिलेगा इतना सस्ता! लोगों में खुशी की लहर

आपको बता दें कि एलआईसी ने जीवन धारा पॉलिसी (LIC Jeevan Dhara Policy) का एक सेकंड फेज लॉन्च किया है, जिसे गारंटीड  इनकम के बनाया गया है। ग्राहक इस पॉलिसी के प्रीमियम को रेगुलर और सिंगल प्रीमियम, सालाना प्लान, या ज्वाइंट लाइफ सालाना एन्युटी के बीच में से चुन सकते हैं।

ग्राहक  एलआईसी की जीवन धारा पॉलिसी को कंपनी के एजेंट के जरिए ऑफलाइन या एलआईसी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन खरीद सकते हैं।

LIC Jeevan Dhara Policy की खास बातें

कंपनी की तरफ से LIC Jeevan Dhara Policy में लाइफ इंश्योरेंस कवर दिया जा रहा है। इसमें अतिरिक्त प्रीमियम का भुगतान करके एन्युटी (टॉप-अप एन्युटी) बढ़ाने का ऑप्शन है। इस पॉलिसी में डेथ क्लेम को एकमुश्त राशि के रूप में, एन्युटी के रूप में या किस्तों के रूप में लेने का ऑप्शन है।

LIC Jeevan Dhara Policy लेने की कम से कम उम्र 20 साल और अधिकतम उम्र 80/70/65 साल माइनस डेफरमेंट पीरियड हो सकती है, जो चुने गए एन्युटी ऑप्शन पर निर्भर होती है। इस पॉलिसी प्लान में एन्युटी शुरू से ही गारंटीड है और पॉलिसीधारकों के लिए 11 एन्युटी ऑप्शन उपलब्ध हैं।

ताजा अपडेट- बिटिया के नाम SSY खाता खोलकर कितना पैसा जमा किया, ऐसे आसानी से करें पता

LIC Jeevan Dhara Policy में एन्युटी ऑप्शन मिलते हैं, जिसमें रेगुलर प्रीमियम डेफरमेंट पीरियड 5 साल से 15 साल तक और सिंगल प्रीमियम में डेफरमेंट पीरियड 1 साल से 15 साल तक शामिल है।