Lok Sabha Elections 2024: I.N.D.I.A को मिलेंगी 295 सीटें, राहुल गांधी ने कहा, अखिलेश यादव ने तो ‘क्रोनोलॉजी’ समझा डाली

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव खत्म हो गया। कल ही लोकसभा के आखिरी चरण का चुनाव था। चुनाव (Lok Sabha Elections 2024) के खत्म होते ही कल शाम शनिवार से एग्जिट पोल के आंकड़े जारी होने शुरू हो गए हैं। इन एग्जिट पोल (Exit Polles) के आंकड़ों में I.N.D.I.A गठबंधन को हारता हुआ दिखाया जा रहा है। अब इसके बाद विपक्ष के नेताओं ने इसे झूठ करार करना शुरू कर दिया है।

अब इन सबके के बीच राहुल गांधी ने बयान दिया, जिसमें उन्होंने कहा कि यह एग्जिट पोल (Exit Polles) पीएम नरेंद्र मोदी का “काल्पनिक सर्वेक्षण” है। दूसरी तरफ समजवादी पार्टी के अध्ययक्ष और पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने एग्जिट पोल को झूठा करार दिया। कांग्रेस नेता राहुल गांधी से जब पूछा गया कि I.N.D.I.A गठबंधन को कितनी सीटें मिलेंगी। इसके जवाब में राहुल गांधी ने कहा कि आपने पंजाबी गायक दिवंगत सिद्धू मूसेवाला का गाना 295 सुना है? राहुल गांधी ने कहा कि अलायंस 543 लोकसभा सीटों में से 295 सीटें मिलेंगी

इसी बीच समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एग्जिट पोल को झूठ करार दिया। अखिलेश यादव ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर एक पोस्ट किया जिसमें उन्होंने कहा कि, एक्ज़िट पोल की क्रोनोलॉजी समझिए- विपक्ष ने पहले ही घोषित कर दिया था कि भाजपाई मीडिया भाजपा को 300 पार दिखाएगा, जिससे घपला करने की गुंजाइश बन सके। आज का ये भाजपाई एक्ज़िट पोल कई महीने पहले ही तैयार कर लिया गया था बस चैनलों ने चलाया आज है। इस एक्ज़िट पोल के माध्यम से जनमत को धोखा दिया जा रहा है।

Weather Update Today: कुछ राज्यों में बारिश देगी राहत, पर यहां पर जारी रहेगा गर्मी का कहर

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि इस एक्ज़िट पोल को आधार बनाकर भाजपाई सोमवार को खुलनेवाले शेयर बाज़ार से जाते-जाते लाभ उठाना चाहते हैं। अगर ये एक्ज़िट पोल झूठे न होते और सच में भाजपा हार न रही होती तो भाजपावाले अपनों पर ही इल्ज़ाम न लगाते। ⁠भाजपाइयों के मुरझाए चेहरे सारी सच्चाई बयान कर रहे हैं।

Lok Sabha Elections 2024: एमपी में क्या होने वाला? Exit Poll के आंकड़ों से पहले शिवराज सिंह चौहान का बड़ा ऐलान

उन्होंने आगे लिखा कि, भाजपाई ये समझ रहे हैं कि पूरे देश का परिणाम चंडीगढ़ के मेयर के चुनाव की तरह बदला नहीं जा सकता है क्योंकि इस बार विपक्ष पूरी तरह से सजग है और जनाक्रोश भी चरम पर है। ⁠भाजपा से मिले हुए भ्रष्ट अधिकारी भी सर्वोच्च न्यायालय की सक्रियता देखकर धांधली करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं, साथ ही वो जनता के क्रोध का भी शिकार नहीं होना चाहते हैं।