Follow Dhruvvani News On Google News

मुश्किल में मोहन सरकार! 2 माह में सरकार ने दोबारा लिया कर्ज, MP पर कुल 3 लाख करोड़ से अधिक का कर्ज

MP

भोपाल। MP की मोहन यादव सरकार को राज्य की कमान संभाले 50 दिन हो गए हैं। इन 50 दिनों में मोहन सरकार ने 2 बार कर्ज लिया है। राज्य सरकार ने अब RBI से 2500 करोड़ रुपये का कर्ज लिया है। मध्य प्रदेश पर अब तक 3 लाख 33 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का कर्ज हो चुका है।

मध्य प्रदेश में बजट से पहले 26 विभागों को खर्च के लिए राशि आवंटित कर दी गई है। राज्य के 26 विभागों को खर्च के लिए 8 हजार 623 करोड़ रुपये मिले हैं। सरकार ने विभागों को यह राशि तीन माह के लिए दी है। वित्त विभाग ने जनवरी-फरवरी और मार्च के लिए 26 विभागों को विशेष व्यय सीमा राशि आवंटित की है।

MP में किस डिपार्टमेंट को कितनी राशि दी गई?

राज्य में हो रहे निर्माण कार्यों के चलते राज्य सरकार अब तक लोक निर्माण विभाग, जल संसाधन और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को 4 हजार करोड़ रुपये से अधिक की राशि दे चुकी है। इसमें विभिन्न निर्माण कार्यों के भुगतान के लिए 2 हजार 55 करोड़ रुपये पीडब्ल्यूडी विभाग को दिए गए हैं।

जल संसाधन विभाग (Department of Water Resources) को एक हजार दो सौ 55 करोड़ रुपये और नर्मदा घाटी विकास (Narmada Valley Development) को 807 करोड़ मिले हैं।

इससे पहले भी 2 हजार करोड़ का कर्ज लिया गया था

जल जीवन मिशन के कार्यों के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को 991 करोड़ रुपये आवंटित किये गये हैं। इस प्रकार स्वास्थ्य विभाग की व्यय सीमा 309 करोड़ रुपये और स्कूल शिक्षा विभाग की व्यय सीमा 300 करोड़ रुपये है। 26 विभागों द्वारा 3 महीने का बजट तय करने के बाद आर्थिक स्थिति खराब हो गई।

ताज़ा ख़बर: ये हैं रामलला की ऐसी 2 मूर्तियां जिन्हे राम मंदिर में नहीं मिल पाई जगह, जानें अब इनके किस जगह होंगे दर्शन?

जिसके बाद MP सरकार ने एक बार फिर कर्ज लेने का फैसला किया। इससे पहले सीएम मोहन यादव की सरकार बनने के बाद सरकार ने आर्थिक गतिविधियों और विकास कार्यों का हवाला देकर 2000 करोड़ रुपये लिये थे। यह लोन 16 साल की अवधि पर लिया गया था। यह राशि 27 दिसंबर को सरकार के खाते में जमा की गयी।

ताज़ा अपडेट: New Mahindra Bolero का किलर लुक निकालेगा Scorpio का दम, एडवांस फीचर्स के साथ मिलेगा पावरफुल इंजन