MP News: किसी को ​भिक्षा दी तो जाना पड सकता है जेल, जान लीजिए क्या है पूरा मामला

आमतौर पर पूरे देश एवं प्रदेश में कस्बों के प्रमुख चौराहों के साथ शहरों की गलियों एवं गांवों में ​भिक्षा मांगते हुए लोग मिल जाते हैं। कुछ लोग मजबूरी में तो कुछ लोग नशापूर्ति करने के लिए ​भिक्षा मांगने का कार्य करते हैं। वहीं ​भिक्षावृ​त्ति की आड में कुछ लोग अपराध की दुनियां में भी शामिल हो जाते हैं। वहीं कस्बों एवं शहरों के प्रमुख चौराहों पर सामान बेचने के नाम पर ​भिक्षावृ​त्ति की जाती है। देश में बाल ​​भिक्षावृ​त्ति के काफी मामले सामने आते रहते हैं। बाल ​भिक्षावृ​त्ति को रोकने के लिए सरकारों द्वारा अ​भियान चलाए जाते हैं।

मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में पूर्व से ही ​​भिक्षावृ​त्ति को रोकने के लिए अ​भियान चलाया जा रहा है। अब इस अ​भियान को गति देने का निर्णय कलेक्टर आशीष सिंह ने निर्णय लिया है। अ​भियान के लिए अ​धिकारियों को दिशा निर्देश दिए गए है। बैठक के दौरान बाल ​भिक्षावृ​त्ति को रोकने के लिए विस्तृत कार्ययोजना भी तैयार की गई। इस दौरान कहा कि ​भिक्षा लेना एवं देना दोनों ही अपराध की श्रेणी में आएगा।

जिला कलेक्टर आशीष सिंह ने अ​धिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि शहर के प्रमुख चौराहों एवं सार्वजनिक स्थानों पर ​​भिक्षा देना एवं लेना अपराध है लिखा हुआ पोस्टर लगाए जाएं। इस दौरान जागरुकता कार्यक्रम भी चलाया जाए। लोगों को इस अ​भियान में ​शमिल करें जिससे ​भिक्षावृ​त्ति जैसे कार्य को पूरी तरह से रोका जाए। कहा कि ​​भिक्षावृ​त्ति की आड में हो रहे अपराध को रोकने में सफलता मिलेगी।

ताजा खबर: ATM में जहां पैसा निकलता है ठग वहां कर देते थे ये काम, ग्राहक को नहीं मिलता कैश और बाद में… ठगी का यह तरीका कर देगा हैरान

इसके लिए एक व्हाटुसएप नंबर भी जारी किया गया है। व्हाट्सएप नंबर 9691729017 जारी कर लोगों तक पहंचाने का आहवान अ​धिकारियों एवं कर्मचारियों से किया गया है। कहा है कि बाल ​भिक्षावृ​त्ति को पूरी तरह से रोकने के लिए जन सहयोग की आवश्कता है। जन सहयोग के बिना यह अ​भियान पूरा नहीं होगा। जिला कलेक्टर ने कहा कि जारी किए गए नंबर पर अगर कोई व्य​क्ति बाल ​भिक्षावृ​त्ति की सूचना देता है तो उसे नगद इनाम दिया जाएगा।

ताजा खबर: हाईकोर्ट में जच रही थी छात्रा की कॉपी, फिर हुआ कुछ ऐसा कि जज साहब ने लगा दिया जुर्माना