NIA की टीम करेगी जबलपुर ब्लास्ट की जांच, इस वजह से प्रसाशन हुआ सख्त

MP News: हाल ही में मध्य प्रदेश के जबलपुर कबाड़ख़ाने में ब्लास्ट हुआ था, जिसमें दो व्यक्ति की मौत हो गई है और अब खबर आ रही है कि नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (NIA) इसकी जांच करने जा रहे हैं। कलेक्टर ने दीपक सक्सेना ने जानकारी दी कि एनआईए की टीम आज शाम तक जबलपुर पहुंच सकती है।

बता दें कि प्रशासन शहर में जितने बड़े कबाड़ख़ाने हैं उनकी जांच करनी शुरू कर दी है। इसके आलावा शहर के ऑर्डिनेंस फैक्ट्री से पिछले 5 सालों से स्क्रैप खरीदने वाले ठेकेदारों की लिस्ट मांगी गई है।

बता दें कि जबलपुर के कबाड़ख़ाने में विस्फोट इतना ज्यादा तेज था कि वहां सबकुछ अस्त व्यस्त हो गया। यही नहीं आसपास 5 किमी तक भूकंप जैसे तेज झटके महसूस किए गए। पुलिस ने जानकारी दी कि सेना में इस्तेमाल होने वाले बम की वजह से विस्फोट हुआ था।

इसके बाद अब इस मामले की जांच के लिए एनआईए की टीम को जबलपुर भेजा गया है। अब यह मामला काफी तूल पकड़ चुका है और इसे राष्ट्रीय सुरक्षा से जोड़ा जा रहा है। यह कबाड़खाना शमीम नाम के व्यक्ति का था और पुलिस ने कबाड़ख़ाने से बड़ी संख्या में सेना के अनयूज़्ड बम बरामद किए हैं।

पुलिस ने जानकारी दी कि, जब हादसा हुआ तब कबड़खाने में 10 मजदूर काम कर रहे थे। इनमें दो मजदूर लापता हैं। वहीं पुलिस को जांच के दौरान एक हाथ और एक धड़ मिलाम जिन्हें इन्ही मजदूरों के बताए जा रहे हैं। अब हाथ और धड़ का डीएनए करने के बाद ही मृतकों की पहचान हो पाएगी।

सीएम मोहन यादव क्यों रहते हैं परिवार के बिना, मुख्यमंत्री ने खुद बताई वजह

पुलिस ने जांच के लिए सेफ्टी विभाग, एलपीआर सहित अन्य अधिकारियों को बुलाया था और एनडीआरएफ की टीम को भी बुलाया गया था। इसके बाद ही पुलिस कबाड़ख़ाने में गई है।

Important News: फोटो अपलोड करते ही होगी खुले बोरवेल को बंद करने की कार्रवाई, सीएम हेल्पलाईन पर मौजूद है सेवा

इस घटना के बाद शमीम कबाड़ी फरार हो गया, जिसके बाद पुलिस ने उसके बेटे को हिरासत में ले लिया और उससे पूछताछ कर रही है। आपको बता दें कि,  शमीम कबाड़ी के खिलाफ पहले से ही काफी धोखाधड़ी और चोरी के मामले दर्ज हैं।