MP News: महाकाल मंदिर के अग्निकांड में झुलसा सेवक मौत के गाल में समाया, सालों से कर रहे थे बाबा की सेवा

MP News Mahakal Mandir Fire Accident

MP News: होली के त्यौहार के मौके पर मध्य प्रदेश के उज्जैन (Ujjain) के लोकप्रिय ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर (Mahakaleshar Mandir) में अग्निकांड हुआ, जिसमें एक सेवक झुलस गया था। वहीं मुंबई में इलाज के समय उसकी मौत हो गई। यह शख्स पिछले 45 सालों से महाकाल के मंदिर में होने वाले भस्म आरती को शामिल होते आ रहे हैं।

बता दें कि शख्स अग्निकांड में गंभीर रूप से घायल हो गया था। इसके बाद उनका इलाज चला और अच्छे इलाज के लिए मुंबई में रेफर किया था। 25 मार्च को सुबह महाकाल मंदिर में भस्म आरती के दौरान बड़ा हादसा हो गया। इसमें आग की चपेट 14 लोग आ गए थे। इसमें 3 लोग मंदिर के पुजारी थे। इसमें ऐसे सेवक भी घायल हो गए हैं, जो रोजाना भस्म आरती में हिस्सा लेते थे। इसी आरती में लखेरवाडी निवासी वृद्ध सेवक सत्यनारायण सोनी शामिल हैं।

Aadhaar Card धारकों की बल्ले-बल्ले, अब इसकी मदद से कर सकेंगे डिजिटल पेमेंट, जानें कैसे उठाएं फायदा

अभी बचे घायल खतरे में नहीं

महाकालेश्वर मंदिर के राम गुरु ने जानकारी दी कि सेवक सत्यनारायण सोनी का मुंबई इलाज के दौरान निधन हो गया। आग में सबसे ज्यादा सत्यनारायण सोनी ही झुलसे थे। पहले उन्हें इंदौर के अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, लेकिन बाद में हालत कुछ गंभीर हो गई, जिसके बाद उन्हें मुंबई के अस्पताल में भर्ती करवाया गया। महाकालेश्वर मंदिर समिति के अध्यक्ष और कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने जानकारी दी कि बाकी बचे घायल खतरे से बाहर हैं।

SBI Sarvottam FD: एसबीआई की डबल पैसा वाली स्कीम, सिर्फ 2 साल में मालामाल हो जाएंगे!

सभी लोगों का कहना है कि सत्यनारायण सोनी वृद्ध थेम जिसके कारण आग की चपेट में आ जाने के बाद रिकवर नहीं हो पाए। वहीं उनके साथ कुछ और लोग झुलसे थे उनकी रिकवरी हो गई है और स्वस्थ हैं। उनसे जुड़े लोगों का कहना है कि सत्यनारायण सोनी समय पर मंदिर पहुंच जाते थे और भस्म आरती में होने वाले सारे काम करते थे। भस्म आरती में पुजारी के साथ करीब आधा दर्जन लोग शामिल होते हैं।