उमा भारती का 10 साल पुराना मोदी विरोधी बयान हो रहा वायरल, अब दी ये सफाई

MP News: मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ बयान दिया था। वैसे उन्होंने यह बयान 17 साल पहले दिया था, लेकिन अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वहीं उमा भारती ने इसको लेकर सफाई दी।

उमा भारती ने कहा कि वह पहले भी इसका खंडन कर चुकी हैं। पर उनका 17 साल पुराना बयान बार-बार वायरल किया जा रहा है। वहीं खंडन के बारे में कोई बात ही नहीं कर रहा है।

आपको बता दें कि उमा भारती साल 2007 में भारतीय जनता पार्टी से अलग हुईं थीं और अपनी एक अलग पार्टी भारतीय जनशक्ति पार्टी बनाई थी। उन्होंने उस समय गुजरात में अपने उम्मीदवार उतारे थे। उसी दौरान चुनाव प्रचार के लिए उमा भर्ती गुजरात पहुंची थीं तो उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ बयान दिया था, जो उस समय गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री थे।

माता चामुंडा सपने में आईं तो शख्स ने घर को बना डाला मंदिर, सभी लोग देखकर कर रहे हैं गुणगान

उमा भारती ने कहा-

17 साल पुराना बयान अभी सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है। उमा भारती ने इसे लेकर सफाई दी। उन्होंने कहा कि जब वह गुजरात गईं थीं तो नरेंद्र मोदी के खिलाफ बबयान जरूर दिया था, लेकिन जब बाद में गुजरात के घूमने पर उन्होंने विकास कार्य देखा तो अपने बयान पर पछतावा हुआ।

इसके बाद मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा ने प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर अपने बयान का खंडन किया। इसके बाद उन्होंने नरेंद्र मोदी के समर्थन में अपने उम्मीदवारों को वापस ले लिया। पर इसके बाद भी उनका मोदी विरोधी बयान सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है।

कमलनाथ का BJP पर वार, कांग्रेस नेताओं पर बनाया जा रहा है दवाब

उमा भारती ने आगे कहा कि, मोदी विरोधी 2014 से लगातार मेरा वीडियो दिखा रहे हैं। इससे मोदी विरोधियों की दरिद्र सोच का पता चलता है। मैंने साल 2014 में चुनाव के समय चुनाव आयोग से आपत्ति दर्ज करवाने का प्रयास किया था, लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी ने उस समय रोक दिया था।