Important News: किसानों को मिली 11 दिन की मोहलत, लक्ष्य पूरा नहीं होने पर सरकार ने दिया मौका

वर्तमान में किसानों से सरकार द्वारा गेंहू की खरीद की जा रही है। लेकिन किसानों की उदसीनता के चलते लक्ष्य पूरा नहीं हो पा रहा है। पहले भी सरकार ने खरीद करने के समय में इजाफा किया था। वहीं एक बार फिर समय बढ़ाने की घोषणा की है। तमाम प्रयासों के बाद भी सरकार गेंहू खरीद के लक्ष्य को पूरा नहीं कर पा रही है। अब समय बढ़ाने के सा​थ ही अ​धिकारियों को भी तय लक्ष्य निर्धारित समय में पूरा करने का निर्देश दिया गया है। अ​​धिकारी भी किसानों को गेंहू बेचने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

मध्य प्रदेश सरकार ने गेंहू की खरीद के लिए खाद्य नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण विभाग और नागरिक आपूर्ति निगम को नोडल विभाग बनाया है। इन्हीं विभागों के अधीन किसानों से गेंहू की खरीद की जा रही है। इन विभागों का सहयोग स्थानीय प्रशासन भी कर रहा है। तमाम प्रयासों के बाद गेंहू खरीद का लक्ष्य पूरा नहीं होने पर सरकार को चिंता में डाल दिया है। 20 मई को गेंहू खरीद होने की समय सीमा समाप्त हो रही थी लेकिन एक बार फिर समय बढ़ाते हुए इसे 31 मई कर दिया है।

आपको बता दें कि किसान अब अपने गेंहू को 31 मई तक सरकारी क्रय केंद्रों पर बेच सकेंगे। इसके लिए सरकार द्वारा अ​​धिकारियों को जिम्मेदारी दी गई है। वर्तमान लक्ष्य की तो बात दूर है अभी पिछले वर्ष हुई खरीदी से भी 24 लाख मीट्रिक टन कम खरीद हुई है। पिछले दिनों में मीडिया में कम खरीद होने की आईं खबरों का संज्ञान लेकर सरकार ने महत्वपूर्ण कदम उठाया है।

ताजा खबर: क्वालिटी के टेस्ट में फेल हो गई पतंजलि की सोन पापड़ी, कंपनी के अधिकारी के साथ 3 लोगों को जेल और जुर्माना दोनों

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को गेंहू की बिक्री करने के लिए बोनस भी दिया जा रहा है। तय अ​धिकतम समर्थन मूल्य पर 150 रुपए का इजाफा किया गया है। वहीं 125 रुपए बोनस के रुप में दिए जा रहे ​हैं। तय समय सीमा बढ़ने पर अ​धिकारियों ने भी गांवों की दौड लगाना शुरु कर दिया है। किसानों को समझाकर गेंहू खरीद के लक्ष्य को पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है।

ताजा खबर: Earthquake in JK: जम्मू-कश्मीर में कांपी धरती, डरे सहमे लोग!