स्वच्छता अभियान की धज्जियाँ: ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग मार्ग बना कचरे का अड्डा, प्रशासन नहीं दे रही ध्यान!

ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग। तीर्थ स्थल ओंकारेश्वर में स्वच्छता की स्थिति बहुत दयनीय स्तिथि में पहुंच चुकी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी की स्वच्छ तीर्थ अभियान की अपील को भी स्थानीय और जिला प्रशासन ने गंभीरता से लेना उचित नही समझा।

ज्योतिर्लिंग मंदिर मार्ग पर स्थापित श्री विश्वपति हनुमान मंदिर परिषर को स्थानीय दुकानदारों द्वारा कचरा अड्डा बना दिया गया है। जिला कलेक्टर, स्थानीय SDM, नगर पंचायत परिषद CMO तीर्थ की स्वच्छता को लेकर बड़ी उदासीनता तीर्थ क्षेत्र में,

प्रमुख नर्मदा घाटों पर बाजारों, प्रमुख चौराहों, क्षेत्रो और जगह जगह फैले पड़े कचरे के रूप में साफ तौर पर देखी जा सकती है। जहाँ एक ओर स्वच्छ भारत अभियान अंतर्गत पूरे देश के शहरों नगरों में राहगीरो के लिए बाजारों में डस्टबिन लगाए गए है,

परन्तु तीर्थ क्षेत्र ओंकारेश्वर में प्रति-दिन आने वाले हजारों श्रद्धालुओं के कचरा निपटान हेतु बाजारों ओर प्रमुख मार्गों प्रमुख घाटों पर कचरा निपटान के लिए कोई भी डस्टबिन की व्यवस्था नही है।

ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग मार्ग की सफाई में 3 महीने से लगे हैं स्वच्छता श्रमदानी, प्रशासन का ध्यान नहीं

ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग पहुंच मार्ग पर कचरे के ढेर लगे रहते हैं। पिछले 100 दिनों से इस मार्ग पर स्वच्छता के लिए कार्य कर रहे स्वच्छता श्रमदानी राकेश चौहान ने बताया कि हम यहां पर प्रति-दिन सायं साफ सफाई करते हैं किंतु उसके बाद भी विश्व पति हनुमान मंदिर के आस-पास दुकानदार और रहवासी कचरा डालकर गंदगी कर रहे हैं।

ताज़ा अपडेट: अब ऑटो मार्केट में मचेगा तहलका! INDIA की Number-1 बाइक Hero Splendor Plus 2024 का स्पोर्टी लुक और रेंज मचाएंगे कोहराम

समझाइस देने के बाद भी कोई सुधार नहीं आ रहा है स्थानी नगर परिषद भी लापरवाह बनी हुई है साफ सफाई के नाम पर यहां पर कुछ भी देखने को नहीं मिलता तीर्थ नगरी में इस प्रकार की लापरवाही से तीर्थ क्षेत्र की छवि धूमिल हो रही है वहीं श्रद्धालुओं की आस्था से भी खिलवाड़ किया जा रहा है मंदिर परिसर के आस-पास गंदगी की सफाई होना चाहिए।

ताज़ा अपडेट: Honda की धांसू लुक वाली बाइक KTM को देगी टक्कर, एडवांस फीचर्स और दमदार इंजन, देखें कीमत