4 पहिया वाहन पार्किंग ठेका नीलम करेगी नगर परिषद ओंकारेश्वर, जनसंख्या के 3 गुना यात्री आते हैं प्रति-दिन ओंकारेश्वर

ओंकारेश्वर। वित्तीय वर्ष 2024 25 में चार पहिया वाहन पार्किंग ठेका नीलामी की तैयारी मार्च 2024 में कर ली गई थी किंतु  उसी समय लोकसभा चुनाव  की घोषणा हुई और आचार संहिता लगने के कारण नीलामी निरस्त कर दी गई। और नगर परिषद 1 अप्रैल से  पार्किंग वसूली अपने स्थाई कर्मचारियों और अतिरिक्त कर्मचारी लगाकर कर रही है।

4 जून को लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद आचार संहिता खत्म होगी और उसके बाद ठेका नीला में नगर परिषद करेगी या स्वयं वसूली करेगी? अभी 9 महीने के लिए ठेके की नीलामी की जा सकती है। इस संबंध में जब पड़ताल की गई और अधिकारियों से मोबाइल पर संपर्क करने की कोशिश की गई तो मोबाइल स्विच ऑफ आ रहा था।

चुनाव नतीजे के बाद परिषद क्या करेगी?

अभी यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है। परिषद के पास स्थाई कर्मचारियो की संख्या नहीं के बराबर है नगर परिषद क्षेत्र के अतिरिक्त तीर्थ क्षेत्र में प्रतिदिन 25 से 30 हजार श्रद्धालुओं के लिए व्यवस्था जूताने का का कार्य भी उसे देखना पड़ता है। स्थाई आवक के भाव में परिषद के कार्य प्रभावित होते हैं।

यदि परिषद स्वयं वसूली करती है, तो उसे स्थाई कर्मचारियों के ड्यूटी के साथ आस्थाई कर्मचारियों की नियुक्ति भी करना पड़ेगी और समय के साथ-साथ वसूली भी प्रभावित होगी किंतु ठेका देने से उसे स्थाई आवक होती।

नगर परिषद के पास स्थाई कर्मचारी और संसाधनों का अभाव

नगर परिषद के पास अभी मात्र पांच स्थाई अधिकारी कर्मचारी है। अस्थाई कर्मचारी के द्वारा नगर परिषद चलाई जा रही है। ओंकारेश्वर की जनसंख्या लगभग 15000 है, औसतन प्रतिदिन 25 से 30 हजार यात्री पहुंच रहे हैं।

यात्रियों द्वारा उपयोग की गई पानी की बोतल, प्लास्टिक तेलिया और अन्य कचरो के साथ धर्मशला, होटल, रेस्टोरेंट से निकलने वाला  कचरा उठाने और नगर को स्वच्छ रखने में नगर परिषद को पसीना आ रहा है। कचरा उठाने के लिए नगर परिषद के पास पर्याप्त कचरा वाहन नहीं है। नगर में स्वच्छता की स्थिति ठीक नहीं है जगह-जगह कचरा और गंदगी आसानी से देखी जा सकती है।