क्वालिटी के टेस्ट में फेल हो गई पतंजलि की सोन पापड़ी, कंपनी के अधिकारी के साथ 3 लोगों को जेल और जुर्माना दोनों

लगभग 5 साल पहले उत्तराखंड (Uttarakhand) के पिथौरागढ़ जिले के बेरीनाग स्थित एक दुकान से पतंजलि नवरत्न इलायची सोन पापड़ी का सैंपल लिया गया था, जो टेस्ट में फेल हो गया था। इस मामले पर कोर्ट की तरफ से शनिवार को बड़ा फैसला लिया गया है। कोर्ट ने इस मामले से जुड़े सभी लोगों पर कार्रवाई की।

बता दें कि मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट पिथौरागढ़ संजय सिंह की अदालत की शनिवार को पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के असिस्टेंट जनरल मैनेजर अभिषेक कुमार, कान्हा जी डिस्ट्रीब्यूटर प्राइवेट लिमिटेड रामनगर की असिस्टेंट मैनेजर अजय जोशी और दुकानदार लीलाधर पाठक को 6 महीने की कारावास और अर्थ दंड की सजा दी है। कोर्ट ने सजा खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम की कई धाराओं के तहत दी है।

Earthquake in JK: जम्मू-कश्मीर में कांपी धरती, डरे सहमे लोग!

आपको ठीक से बताए गए हैं कि पिथौरागढ़ के जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बेरीनाग बाजार की लीलाधर पाठक की दुकान से पतंजलि नवरत्न इलायची सोन पापड़ी का 17 सितंबर 2019 को सैंपल लिया था। इसके बाद इस सोन पापड़ी की जांच की गई, लेकिन जांच में मानकों पर खरी नहीं उतरी और फेल हो गई। इसके जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी की तरफ से व्यापारी लीलाधर पाठक, वितरक अजय जोशी और पतंजलि के असिस्टेंट मैनेजर अभिषेक कुमार पर मामला दर्ज किया गया।

शिवांगी जोशी हर एपिसोड के लिए चार्ज करती हैं तगड़ी रकम, खूबसूरती में हैं सबसे बेमिसाल!

कोर्ट ने शनिवार को सुनवाई के बाद

खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के तहत हुई सजा खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 की धारा 59 के अंतर्गत तीन आरोपियों के खिलाफ 6 महीने की कैद की सजा सुनाई। इसके आलावा सोन पपड़ी बेचने वाले दुकानदार लीलाधर पाठक पर 5 हजार रुपये, डिस्ट्रीब्यूटर अजय जोशी पर 10 हजार रुपये, पतंजलि के असिस्टेंट मैनेजर अभिषेक कुमार पर 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया।