Petrol Pump Update: यह दस्तावेज लेकर पेट्रोल पंप नहीं गए, तो लगेगा 10,000 रुपये का जुर्माना!

Petrol Pump Update: भारत देश में प्रदूषण काफी ज्यादा बढ़ रहा है। हालांकि सरकार लगातार इसपर प्रयास कर रही है। वैसे खासतौर पर वाहनों की वजह से प्रदूषण बढ़ रहा है। सरकार के कई प्रयास इसे रोकने के लिए किए जा रहे हैं। जैसे कि सरकार सीएनजी, एलएनजी, बायोफ्यूल, इथेनॉल-मिश्रित ईंधन जैसे ईंधन को इस्तेमाल के लिए बढ़ावा दे रही है। इसी के साथ इलेक्ट्रिक वाहनों को भी बढ़ावा दिया जा रहा है।

खबरों के अनुसार, पुणे में एक ऑटोमैटिक प्रणाली विकसित की जा रही है जो बिना प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र (वैध पीयूसी) वाले वाहनों की पहचान करके उनका जुर्माना काटती है। जो इस नियम का पालन नहीं करेगा उसपर भारी जुर्माना भरना पड़ेगा।

पीयूसी प्रमाणपत्र होने से पता चलता है कि वाहन उत्सर्जन मानकों का पालन कर रहा है और प्रदूषण से पर्यावरण को बचा रहा है। इस प्रमाणपत्र के होने से कार्बन मोनोऑक्साइड और हाइड्रोकार्बन जैसे प्रदूषक चीजों का पालन करने के लिए वाहन के एग्जॉस्ट का विश्लेषण करते हैं।

Gold Price Today: आज तीसरी बार कम हुई सोने की कीमत, देखें अपने शहर का भाव

यह प्रणाली कैसे करेगी काम

रिपोर्ट के अनुसार, पेट्रोल पंपों पर अत्याधुनिक ऑटोमैटिक कैमरे लगाए जाएंगे। ये कैमरे वाहन पंजीकरण नंबरों को स्कैन करेगी और सेंट्रल डेटाबेस से चेक करके वाहन की पीयूसी की स्थिति को वेरिफाई करेगा। अगर किसी वाहन का पीयूसी प्रमाणपत्र एक्सपायर हो चूका होगा तो वाहन चालकों को उनके रजिस्टर्ड मोबाइल फोन नंबर पर जुर्माना भेज दिया जाएगा।

अगर आ रहे हैं आपके पास धमकी भरे फोन तो उठाएं यह कदम, विभाग करेगा आपकी मदद

हालांकि लोगों को कुछ समय दिया जाएगा, जिससे वाहन चालकों को जुर्माने की रकम फ़ाइनल होने से पहले अपने पीयूसी को रिन्यु करने की अनुमति मिलती है। वैसे अभी अधिकारियों से आधिकारिक पुष्टि मिलने का इंतजार है। इसके आलावा यह भी जानकारी नहीं है कि इस प्रणाली को कब तक लागू किया जा सकता है।