पीएम मोदी ने 45 घंटे की ध्यान साधना पूरी की, कन्याकुमारी में भगवा वस्त्र पहने किया ध्यान मंडपम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरूवार की शाम को 45 घंटे की ध्यान साधना शुरू की थी। यह ध्यान साधना उन्होंने कन्याकुमारी के प्रसिद्ध विवेकानंद रॉक मेमोरियल से की। अब पीएम मोदी ने यह 45 घंटे की साधना पूरी कर ली। पीएम मोदी ने अपनी ध्यान साधना सूर्योदय के समय ‘सूर्य अर्घ्य’ देने के बाद शनिवार को तीसरे और अंतिम दिन शुरू की। पीएम मोदी ने स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर पुष्प भी अर्पित किए।

आपको जानकारी के लिए बता दें कि, पहले पीएम मोदी ने पंजाब के होशियारपुर में चुनावी रैली को संबोधित किया और इसके बाद हेलीकॉप्टर से सीधे कन्याकुमारी गए। यहां पर पहुंचते ही उन्होंने भगवती अम्मन मंदिर में पूजा-अर्चना की थी। इसके बाद नांव से तट से लगभग 500 मीटर दूर समुद्र में चट्टान पर स्थित विवेकानंद रॉक मेमोरियल में गए। विवेकानंद रॉक मेमोरियल में उन्होंने 45 घंटे का ध्यान शुरू किया था। आज उनकी ध्यान साधना पूरी हो गई और अब वो दिल्ली वापस आ रहे हैं।

जब पीएम मोदी को ध्यान के अंतिम दिन देखा गया तो वो भगवा वस्त्र पहने हुए थे। उन्होंने ने स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए। उनके हाथ में ‘जाप माला’ था और मंडपम के चक्कर लगाते हुए दिखे।

गैस सिलेंडर पर बड़ी राहत, चुनाव के बीच सस्ता कर दिया गया LPG Gas Cylinder, देखें नए दाम

इसपर विपक्ष ने काफी तंज कसा। जैसे कि तृणमूल कांग्रेस की मुख्य ममता बनर्जी ने बोला कि कोई भी वहां जा सकता है और ध्यान कर सकता है और क्या कोई ध्यान लगाते समय कैमरा ले जा सकता है। इसी के साथ अखिलेश यादव ने बोला था कि सुना है ध्यान लगाने जा रहे हैं। जिस जगह विवेकानंदजी ने ध्यान लगाया था वहीं पर पीएम मोदी ध्यान लगाने जा रहे हैं। पर ध्यान लगाने की जरूरत 5-7साल पहले थी।

IMD Weather Update: इन राज्यों में भीषण गर्मी से हाल बेहाल, पर कुछ राज्यों में मिलेगी राहत

इसके जवाब में बीजेपी के कहा कि विपक्ष के लोग न तो भारत को समझते हैं और न ही भारतीयता को। बीजेपी की तरफ से कहा गया कि विपक्ष समझेगा, क्योंकि वो सनातन धर्म को मिटाना चाहता है।