खेल सियासत के: पति-पत्नी के रास्ते हुए अलग, झोंपडी में रहकर होगा चुनाव का प्रचार

सियासत के खेल भी निराले हैं। कहते हैं कि राजनीति जो न कराए वह ही सही है। सियासत के खेल में पिता-पुत्र, भाई-बहिन, भाई-भाई के साथ अन्य सगे संबं​​धियों में विवाद के मामले सामने आते रहते हैं। ऐसा पुरातन समय से ही हो रहा है। लोकसभा चुनाव के दौरान मध्य प्रदेश की बालाघाट लोकसभा सीट से दिलचस्प मामला सामने आया है। जहां चुनाव ने पति और पत्नी के रास्ते अलग हो गए हैं। यहां तक कि सांसद बनने के लिए अपना घर तक छोड दिया है।

आपको बता दें कि बहुजन समाज पार्टी ने कंकर मुंजारे को अपना प्रत्याशी बनाया है। कंकर मुंजारे पहले भी सांसद रह चुके हैं। वहीं उनकी पत्नी भी विधायक हैं। दिलचस्प बात यह है कि कंकर मुंजारे को बसपा ने अपना प्रत्याशी बनाया है। जबकि उनकी पत्नी अनुभा मुंजारे कांग्रेस से विधायक हैं। वह अपने पति के बजाय कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में मतदान कर रही है। इसी बात को लेकर पति और पत्नी में अनबन हो गई है। दोनों ही सिद्धांतों की राजनीति करने का दावा कर रहे हैं।

दो अप्रेल को कंकर मुंजारे घर छोडने का ऐलान किया था। जिसमें उन्होंने अपनी पत्नी से घर छोडने को कहा था। लेकिन जब पत्नी ने घर नहीं छोडा तो खुद कंकर मुंजारे अपना बोरिया बिस्तर लेकर घर से चले गए। आपको बता दें कि बालाघाट में 19 अप्रेल को मतदान होना है। 19 अप्रेल तक ही दोनों के बीच अलगाव हुआ है। उसके बाद कंकर मुंजारे अपने घर में वापिस आ जाएंगे।

ताजा खबर: अब तक का सबसे सस्ता इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च हुआ, साईकिल चलाने वाले भी खरीद सकेंगे, देखें खूबियां

बोरिया बिस्तर लेकर झोंपडी में पहुंचे कंकर मुंजारे का कहना है कि वह सिद्धांत और आदर्शों की राजनी​ति करते हैं। वह चाहते तो किसी के भी घर पर रहकर चुनाव लड सकते थे लेकिन उन्होंने तालाब के किनारे झोंपडी डाल ली है। यहीं पर रहकर वह चुनाव का संचालन करेंगे। उन्होंने कहा उनका मतदाता भी गरीब तबके से आता है। और वह उनकी परेशानी को भलीभांति समझते हैं।

ताजा खबर: आ रहा है OnePlus का अनोखा फोन, मिलेगा हाई क्वॉलिटी कैमरा और खास डिस्प्ले, जानें डिटेल