हाईकोर्ट में जच रही थी छात्रा की कॉपी, फिर हुआ कुछ ऐसा कि जज साहब ने लगा दिया जुर्माना

मध्य प्रदेश के दतिया में मौजूद मेडीकल कालेज हुई परीक्षा का परिणाम आया तो एक छात्रा अपने परिणाम से संतु​​ष्टि नहीं हुई। छात्रा ने मामले को कॉलेज प्रशासन के समक्ष रखा लेकिन कोई मदद नहीं मिली। बाद में छात्रा ने पूरे मामले को मध्य प्रदेश की ग्वालियर खंडपीठ में याचिका दायर कर पुनर्मूल्याकंन किए जाने की मांग की। छात्रा के आरोपों को गंभीरता से लेकर हाईकोर्ट ने दुबारा कॉपी जांचने के का निर्देश दिया तो मामला कुछ और ही निकला।

आपको बता दें कि छात्रा आकांक्षा सिंह द​तिया मेडीकल कालेज में मेडीकल की पढ़ाई कर रही है। उसके एटोनोमी विषय में काफी कम नंबर आए तो उसने पहले तो पहले कॉलेज में फिर विश्वविद्यालय में भी अपनी कॉपी को दुबारा चेक करने की गुहार लगाई। लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। थककर छात्रा मामले को ग्वालियर हाईकोर्ट ले गई। जहां उसने कॉपी को सही तरीके नहीं जांचने का आरोप लगा दुबारा जांचने का आदेश देने की मांग की।

छात्रा के आरोपों को गंभीरता से लेते हुए माननीय न्यायाधीश ने पिछली तारीख को एक प्रोफेसर को बुलाने एवं कोर्ट परिसर में ही कॉपी चेक कराने का आदेश जारी किया। आदेश के अनुपालन में जीआर मेडीकल कालेज से एटोनोमी विषय के एक प्रोफेसर को बुलाया गया और कोर्ट रुम में ही कॉपी को चेक कराया गया। कॉपी चेक करते समय प्रोफेसर को दो प्रश्नों में आधा-आधा नंबर बढ़ने की गुजाईंश दिखाई दी।

ताजा खबर: निमाड़ की भीषण गर्मी से आसमान से गिरने लगे पक्षी

प्रोफेसर ने कोर्ट को बताया कि पूरी कॉपी में केवल एक नंबर ही बढ़ सकता है। कॉपी सही तरीके से चेक हुई है। इस बात को लेकर जज साहब नाराज हो गए। उन्होंने छात्रा की याचिका को खारिज कर दिया। वहीं अनावश्यक रुप से अदालत का समय बर्बाद करने पर छात्रा पर जुर्माना भी लगा दिया। कोर्ट का कहना था कि अदालत का समय कीमती होता है।

ताजा खबर: JEE Main 2024 Paper 2 Result Out: JEE Main 2024 Paper 2 का परिणाम हुआ जारी, यहां मिलेगा आपका परिणाम