Ayurvedic गुणों का खजाना हैं, इन पेड़ के पत्तो में, पेट की हर बीमारी को करते हैं दूर

AyurvedicAyurvedic. Ayurvedia में कई पेड़ और पौधे हैं जो सिर से लेकर पैर तक सभी बीमारियों को ठीक करने की क्षमता रखते हैं। आपको बस उनका उपयोग करना चाहिए। सदियों से, कई दवाओं को बनाने के लिए ऐसे पेड़ों और पौधों का उपयोग किया जाता रहा है।

Advertisement

हम आपको Ayurvedic औषधियों में शामिल कुछ ऐसे पौधों के बारे में बता रहे हैं, जो हमारे आस-पास हैं, लेकिन इसका उपयोग करने के तरीके न जानने के कारण वे अपने लाभ से वंचित हैं। आइए जानते हैं इन स्वास्थ्य लाभों के बारे में।

Ayurvedic निर्गुण्डी के पत्ते

Ayurvedic निर्गुण्डी का सेवन आपको कई तरह से फायदा पहुंचाता है। बहुत से लोग इसके फायदों के बारे में नहीं जानते हैं। निर्गुण्डी के चूर्ण को सुखाकर गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से पेट की समस्याएं जैसे गैस, कब्ज, पेट फूलना आदि से छुटकारा मिलता है।

Advertisement

इसके नियमित सेवन से शरीर की कोई भी सूजन बहुत जल्दी ठीक हो जाती है। सिर दर्द से राहत पाने के लिए निर्गुंडी पाउडर का सेवन किया जा सकता है। यह महिलाओं द्वारा मासिक धर्म की समस्याओं जैसे मासिक धर्म जल्दी या कभी कभी देर से लेने के लिए भी लिया जा सकता है।

पिंपल्स को दूर करने के लिए निर्गुंडी को पीसकर चेहरे पर लगाएं। इसके अलावा अगर आपको शरीर में कोई घाव या चोट है, तो इसके पाउडर को लगाकर इसका इलाज किया जा सकता है। यदि आपके बाल गिर रहे हैं, तो उनकी चमक कम हो गई है, तो आप निर्गुंडी के तेल से लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

बेर के पत्ते

आप बेर के पेड़ को हर जगह पा सकते हैं। बेर के पत्तों से आप कई बीमारियों को ठीक कर सकते हैं। अगर किसी का गला बैठा है, तो बेर के पत्तों के पानी के साथ सेंधा नमक मिलाकर गरारे करने से आपका गला खुल सकता है और दर्द कम हो सकता है।

Advertisement

शरीर के किसी भी हिस्से में जलन होने की स्थिति में बेर के पत्तों को जलाने से रोका जा सकता है। अगर आंखों से लगातार पानी निकल रहा है, तो बेर के पत्तों को पानी में घिसकर आप आंखों से पानी छींटना बंद कर देते हैं।

यदि कोई व्यक्ति दस्त से पीड़ित है, तो Ayurvedic बेर के पत्तों को लेकर दूध में मिलाकर पीने से दस्त ठीक हो सकता है। सर्दियों में कोल्ड सोर एक आम समस्या है। इससे राहत पाने के लिए, आपको बेर के पत्तों को पीसकर फफोले को निकालना होगा, फफोले को बहुत जल्दी ठीक किया जा सकता है।

केले के पत्ते

Advertisement

केले के पत्तों का उपयोग कई जगहों पर सब्जी के रूप में किया जाता है। केले की जड़ भी सेहत के लिए फायदेमंद मानी जाती है। ऐसा माना जाता है कि केले की जड़ से निकाले गए रस का सेवन मोटापे से राहत दिला सकता है।

केले की जड़ का सेवन करने से आपके गले की सूजन को ठीक किया जा सकता है। अगर आपको कब्ज है तो आप केले की जड़ का सेवन करके कब्ज से राहत पा सकते हैं। केले की जड़ का सेवन आपको किडनी की बीमारी से बचाने में मदद कर सकता है।

अगर आपके शरीर में कोई घाव या चोट लगी है, तो आप केले की जड़ को पीसकर घाव या चोट पर लगायें, तो आपका घाव या चोट बहुत जल्दी ठीक हो सकती है।

Advertisement

यह भी पढ़ें:

Internet Speed हो जाएगी सुपर फास्ट, सेटिंग्स में करना होगा बस थोड़ा सा ये बदलाव

Lungs Function: विस्तार से समझिए अपने फेफड़ों की कार्यप्रणाली के बारें में

Advertisement

SBI ने 44 करोड़ ग्राहकों को जारी की जरूरी सूचना, गलती से भी न करें ये

Previous articleInternet Speed हो जाएगी सुपर फास्ट, सेटिंग्स में करना होगा बस थोड़ा सा ये बदलाव
Next articleInsurance Company: यदि अस्पताल नही दे रहा कैशलेस इलाज, तो यहां करें शिकायत