CM शिवराज आखिर क्यों हैं खतरनाक मूड में, क्यों योगी जैसी बोली और फैसले ले रहे हैं?

शिवराजभोपाल. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज इन दिनों Angry Young Man की भूमिका में नजर आ रहें हैं। कभी अपने मंत्रियों को डांट लगा रहे हैं तो कभी अपने अधिकारियों की Class लगाना उनकी नई पहचान बन गई है। शिवराज इस समय बहुत ही सौम्य, सहज और मिलन-सार हैं। इसलिए हर कोई कह रहा है कि सरकार जवाबी कार्रवाई करती दिख रही है।

मध्य प्रदेश में सत्ता के गलियारों में केवल एक ही चर्चा है। मामा बहुत कड़वा हो गया है। मामा का मतलब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से है। शिवराज के शासन से हर कोई स्तब्ध है। आखिर वे क्यों बदल रहे हैं? इन दिनों वह एंग्री यंगमैन की भूमिका में हैं।

कभी अधिकारी की क्लास ने मंत्री को फटकार लगाई तो कभी उसे दफनाने की धमकी दी।

शिवराज फिल्म के नायक की तरह काम कर रहे हैं। उनका एक वीडियो बहुत वायरल हो रहा है। बैठक के बीच में, उन्होंने ग्वालियर के आयुक्त को पूरी तरह से खो दिया महसूस किया। फिर काफी कहा, अब उन्हें छोड़ दो। शाम तक, 2010 बैच के IAS संदीप माकन को हटा दिया गया।

नई टेंशन: अपनी धुरी पर बहुत तेजी से घूम रही पृथ्वी, वैज्ञानिकों को कर दिया हैरान, जानें कारण

शिवराज चौहान अपने मंत्रियों के लिए आचार संहिता भी बना रहे हैं। इस बार वह किसी को भी छूट देने के मूड में नहीं हैं। मंगलवार को उन्होंने कोलार डैम के पास वन गेस्ट हाउस में मंत्रियों की बैठक ली।

इस बैठक में, शिवराज ने अपने मंत्रियों से कहा कि वे अपने पीएस या निजी सचिवों को ध्यान में रखें। उन्होंने कहा कि कुछ लोग आपसे बात करेंगे और आपको नियुक्त करेंगे। ऐसे लोगों से सावधान रहें।

MP के CM भी PM के फॉर्मूले का पालन कर रहे हैं

शिवराज चौहान ने भ्रष्टाचार के आरोप में पिछले महीने एक मंत्री के निजी सचिव को बर्खास्त कर दिया। पीएम बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने अपने मंत्रियों के मामले में भी यही किया। अब MP के CM भी PM के फॉर्मूले का पालन कर रहे हैं।

जरूरी खबर: सोना खरीदने जा रहे हों, तो अब तैयार रखे अपना KYC, जानें सरकार के नए नियम

मुख्यमंत्री ने अपने मंत्रियों को दलालों से दूर रहने के लिए कहा। उन्होंने सभी को नए विचारों पर काम करने की सलाह दी। शिवराज ने कहा कि जब वह भोपाल में रहेंगे, तो हर दिन एक मंत्री के साथ चाय पर चर्चा करेंगे।

शिवराज चौथी बार MP के CM बने

शिवराज चौहान चौथी बार मप्र के मुख्यमंत्री बने हैं। पिछले सत्रह वर्षों में, वह केवल एक वर्ष तक सत्ता में नहीं रहे। लेकिन बहुत ही सौम्य, सहज और मिलनसार स्वभाव के शिवराज इस समय एक्शन रोल में हैं। इसलिए हर कोई कह रहा है,

कि सरकार जवाबी कार्रवाई करती दिख रही है। शिवराज खुद कह रहे हैं कि वह खतरनाक मूड में हैं। उनका कहना है कि मामा फॉर्म में हैं। एक कार्यक्रम में मंच से बोलते हुए, शिवराज ने कहा, माफिया की सुनो, मध्य प्रदेश छोड़ दो वरना 10 Feet जमीन के अंदर गाड़ देंगे। उनका यह भाषण खूब Viral हुआ था।

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के साथ निर्भया जैसी दरिंदगी, रेप के बाद गुप्तांग में डाली रॉड, पैर भी तोड़ा

शिवराज की आक्रामक हिंदूवादी नेता की हैं छवि

केवल शिवराज चौहान के शब्द नहीं बदले हैं। उनकी छवि भी बदलाव की राह पर है। उन्होंने अब एक आक्रामक हिंदूवादी नेता की छवि बनानी शुरू कर दी है। वे यूपी से भी लव जिहाद के खिलाफ कड़ा कानून बनाने जा रहे हैं।

हाल के दिनों में, राम मंदिर तक जाने वाले जुलूस पर कई स्थानों पर पत्थर लगे थे। उज्जैन, इंदौर और मंदसौर में लड़ाई हुई। इसलिए शिवराज ने पत्थरों से सरकारी संपत्ति के नुकसान की वसूली के लिए एक कानून बनाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि पत्थर फेंकने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

आपको याद दिला दें कि योगी सरकार ने CAA के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों के खिलाफ इसी तरह की कार्रवाई की थी। हाल के फैसलों और बयानों के बाद, कुछ विशेषज्ञों ने योगी और शिवराज की तुलना करना भी शुरू कर दिया है। लेकिन यह सच है कि मामा इस बार अलग अंदाज में हैं। पर क्यों? जितनी मुंह उतनी बातें।