शिवराज सरकार की इस योजना की सहायता से 21 साल की उम्र में बेटी बन जाएगी लखपति

योजनाभोपाल. केंद्र सरकार के अलावा, कई राज्य सरकारें अपने स्तर पर लड़कियों के लिए विशेष योजनाएँ चलाती हैं। इन योजनाओं का उद्देश्य लिंगानुपात में सुधार करना, बेटीयोों को अच्छी शिक्षा प्रदान करना और उनके विवाह में माता-पिता की मदद करना है। ऐसी ही एक योजना लाड़ली लक्ष्मी योजना है।

इस योजना का उद्देश्य लड़की के जन्म, उसकी शिक्षा और स्वास्थ्य के बारे में सकारात्मक सोच को बढ़ावा देना है। लाड़ली लक्ष्मी योजना का सबसे बड़ा लाभ बेटी की शादी के लिए 1 लाख रुपये की मदद है। आइए जानते हैं इस प्लान की पूरी जानकारी।

मध्य प्रदेश सरकार की है लाडली लक्ष्मी योजना

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा लाडली लक्ष्मी योजना 2007 में शुरू की गई थी। योजना का उद्देश्य बेटी के जन्म पर समाज के अपमान-जनक रवैये को बदलना था। इसके अलावा मुख्य उद्देश्यों में लिंग अनुपात में सुधार, बेटियों की स्कूली शिक्षा और जीवन स्तर में सुधार शामिल हैं। अन्य राज्यों ने भी इसी तरह की योजनाएं लागू की हैं।

आयकर विभाग का 2021 टैक्स ई-कैलेंडर जारी, जरूरी डेडलाइन जो आपको पता होना चाहिए

शिवराज सिंह चौहान ने रखी नींव

2 मई 2007 को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लाड़ली लक्ष्मी योजना का शुभारंभ किया। जो परिवार कर का भुगतान करने के पात्र नहीं हैं उन्हें इस योजना का लाभ मिलता है। लाडली लक्ष्मी योजना भारत में लड़कियों के विकास के लिए एक बेहतर मॉडल बनाने के लिए शुरू की गई थी।

इस योजना के तहत, लड़कियों की शिक्षा पर जोर दिया जाता है और उनके लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।

1 लाख रुपये की मदद

1 लाख रुपये सरकार के द्वारा लड़की की Family को लड़की की शादी करने के लिए दे दिए जाते हैं। परंतु लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत 18 वर्ष के पूर्व शादी करने वाली लड़कियों को कोई लाभ नहीं मिलेगा।

दूसरे, इस योजना के तहत शैक्षिक व्यय सुनिश्चित करते हैं कि माता-पिता बेटी को स्कूल भेजने में सक्षम हैं। लेकिन जिन लड़कियों ने स्कूल छोड़ दिया है, वे इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र नहीं होंगी।

लाभ कैसे प्राप्त करें

राज्य सरकार द्वारा बालिकाओं की ओर से सालाना 6000 रुपये के राष्ट्रीय बचत पत्र (NSCs) खरीदे जाते हैं। एनएससी की खरीद निरंतर होगी, जब तक कि कुल राशि 30,000 रुपये तक नहीं पहुंच जाती।

इस योजना के तहत, कक्षा VI (2000 रुपए), कक्षा IX (4000 रुपए), कक्षा XI (6000) और XII (6000) में नामांकित बालिकाएं उपलब्ध हैं। अगर 18 साल से पहले शादी नहीं की, तो एक साथ 21 साल की उम्र में लड़की को 1 लाख रुपये दिए जाएंगे।

इन दस्तावेजों की जरूरत होगी

योजना का लाभ उठाने के लिए, लड़की का का Valid Birth certificate, Application Form, लड़की का निवास प्रमाण, पासपोर्ट Size का फोटो, बैंक पासबुक की प्रति, आधार कार्ड और राशन कार्ड की आवश्यकता होगी।

आवेदन कैसे करें

सबसे पहले ladlilaxmi.mp.gov.in पर जाएं। यहां एप्लीकेशन लेटर पर क्लिक करें। आपको कई विकल्प दिखाई देंगे, लेकिन आपको जनरल पब्लिक पर क्लिक करना होगा। फिर फॉर्म को पूरा करें। आपको आवेदन पत्र के साथ सभी आवश्यक दस्तावेजों की एक प्रति हस्ताक्षर और संलग्न करनी होगी।

इसके बाद Save पर क्लिक करें। आप आंगनवाड़ी कर्मचारी की मदद से परियोजना कार्यालय / सार्वजनिक सेवा केंद्र या किसी भी इंटरनेट साइबर कैफे से आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा, सभी दस्तावेजों को आवेदन की मंजूरी के लिए परियोजना कार्यालय द्वारा अनुमोदित किया जाना चाहिए।