Yoga: कोरोना टाइम में करें ये योगासन, बढ़ेगी इम्‍यूनिटी और फेफड़े बनेंगे मजबूत

YogaYoga. कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर यह और भी महत्वपूर्ण हो गया है कि हम अधिक देखभाल करें और स्वस्थ रहें। अब, कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के साथ, लोग तेजी से शिकार हो रहे हैं और इसमें लोगों को सांस से संबंधित समस्याएं अधिक हो रही हैं।

Advertisement

ऐसी स्थिति में नियमित रूप से किया जाने वाला Yoga पोस्चर संक्रमण को रोकने में मददगार हो सकता है। इसलिए Yoga को अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए, जिसमें रोग प्रतिरोधक क्षमता के साथ-साथ फेफड़ों की क्षमता भी बढ़नी चाहिए।

आज, कई ऐसे योगासन सिखाए गए हैं जिनसे लंग्स को पकड़कर रखने की क्षमता बढ़ जाएगी ताकि सांस लेने में आसानी हो। इसके साथ ही कमर दर्द जैसी समस्या भी दूर हो जाएगी। जो लोग कोरोना संक्रमण के मद्देनजर घर से काम कर रहे हैं, उन्हें भी नियमित रूप से Yoga का अभ्यास करना चाहिए।

Advertisement

ताकि वे तनाव से दूर रहें और ज्यादा टाइम तक बैठे रहने से कमर दर्द की परेशानी हो जाती हैं, उससे भी छुटकारा मिल सकता है। इसके अलावा Yoga करते टाइम इन नियमों का पालन करें। श्वास के साथ Yoga व्यायाम करें, गति में लयबद्ध तरीके से Yoga करें और अपनी क्षमता के अनुसार Yoga करें।

ग्रीवा शक्ति विकासक क्रिया 

इस Yoga गतिविधि को करने के लिए, अपने स्थान पर खड़े रहें। जो लोग खड़े होकर बैठकर इस गतिविधि को करने में असमर्थ हैं, वे भी इसे कर सकते हैं। जो लोग जमीन पर नहीं बैठ सकते, वे कुर्सी पर बैठकर भी इसका अभ्यास कर सकते हैं। एक आरामदायक स्थिति में खड़े होकर, अपने हाथों को कमर पर रखें। शरीर को ढीला रखें।

Advertisement

पूरी तरह से कंधों को आराम दें। सांस छोड़ते हुए गर्दन को आगे लाएं। ठोड़ी को लॉक करने की कोशिश करें। जिन लोगों को सर्वाइकल या गर्दन में दर्द की समस्या है, वे गर्दन को लॉक न करें और गर्दन को ढीला छोड़ दें। इसके बाद सांस लेते हुए गर्दन को पीछे ले जाएं।

पूर्ण भुजा शक्ति विकासक क्रिया

जिन लोगों को कठिन आसन करने में कठिनाई महसूस होती है, वे आसानी से पूर्ण हाथ की ताकत विकासात्मक क्रिया आसन कर सकते हैं। इस आसन को करने के लिए सावधान मुद्रा में खड़े रहें। इसके बाद अपने दोनों पैरों को आपस में मिलाएं।

Advertisement

उसके बाद, अपने दाहिने हाथ के अंगूठे को और अपनी उंगलियों को बाहर रखते हुए, एक मुट्ठी बाँधें और साँस लेते समय, अपने दाहिने हाथ को अपने कंधों के सामने की ओर लाएँ और फिर हाथ को इसी तरह ऊपर ले जाएँ। इसके बाद अपने दाहिने हाथ से लगातार कुछ समय के लिए गोलाकार तरीके से दौड़ें। बाएं हाथ से मुट्ठी बनाते हुए एक ही प्रक्रिया को कई बार दोहराएं।

नौकासन

इस योगासन को करने के लिए सबसे पहले अपनी पीठ के बल लेट जाएं। अब अपने दोनों पैरों को आपस में मिला लें और अपने दोनों हाथों को शरीर के साथ जोड़ लें। इसके बाद गहरी सांस लें और सांस छोड़ते हुए, अपने दोनों हाथों को पैरों की ओर खींचते हुए अपनी छाती को अपने पैरों से ऊपर उठाएं। अब लंबी और गहरी सांस लें, आसन रखें और फिर सांस छोड़ते हुए आराम करें।

Advertisement

शलभासन

शलभासन एक संस्कृत भाषा है, जो दो शब्दों से मिलकर बना है, जिसमें पहला शब्द शलभ का अर्थ है टिड्डा या टिड्ड और दूसरा शब्द आसन का अर्थ है मुद्रा यानि शलभासन का अर्थ टिड्डे के समान होता है। इस आसन को अंग्रेजी में ग्रासहॉपर पोज कहा जाता है। इससे आपकी रीढ़ मजबूत होती है।

शलभासन के फायदे

Advertisement

वजन कम करने के लिए शलभासन एक अच्छा योग मुद्रा माना जाता है। यह शरीर में वसा को खत्म करने में मदद करता है। शरीर की मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए शलभासन एक अच्छा आसन है। यह शरीर के हाथ, जांघ, पैर और बछड़े को मजबूत बनाता है, इसके साथ ही यह पेट की चर्बी को कम करता है.

वक्रासन

वक्रासन करने के लिए सबसे पहले जमीन पर बैठ जाएं और अपने दोनों पैरों को आगे की ओर रखें। अब एक पैर उठाएं और इसे मोड़ें। अब इस साइड का हाथ पीछे की ओर ले जाएं। इसके बाद अपने दूसरे हाथ को ऊपर की तरफ उठाएं और पीछे की तरफ ले जाएं। इस स्थिति में कुछ देर बैठें और गहरी सांस लें।

Advertisement

बटरफ्लाई आसन

बटरफ्लाई आसन को तितली आसन भी कहा जाता है। यह आसन महिलाओं के लिए विशेष रूप से फायदेमंद है। बटरफ्लाई आसन करने के लिए, अपने पैरों को सामने फैलाकर बैठें, रीढ़ को सीधा रखें। घुटनों को मोड़ें और दोनों पैरों को श्रोणि की ओर लाएं।

दोनों पैरों को दोनों हाथों से कसकर पकड़ें। आप अपने हाथों को समर्थन के लिए अपने पैरों के नीचे रख सकते हैं। संभव के रूप में जननांगों के करीब एड़ी लाने की कोशिश करें। सांस लेते हुए लंबी, गहरी सांस लें, जमीन की ओर करवटें और जांघें दबाएं।

Advertisement

दोनों पैरों को तितली के पंखों की तरह ऊपर-नीचे करना शुरू करें। धीरे-धीरे तेजी लाएं। एक सांस लें और अपनी सांस छोड़ें। शुरुआत में जितना हो सके उतना ही Yoga करें। धीरे-धीरे अभ्यास करें।

यह भी पढ़ें:

Immunity: वायरल, फ्लू और वायरस से बचने के लिए इनको करें डाइट में शामिल

Advertisement

दमदार ऑफर: Used Bike के बदले मिल रहा हैं नया ई-स्कूटर, जानें पूरा ऑफर

MP में 1 मई से नहीं होगा 18+ का Vaccination, CM शिवराज ने बताई नई तारीख

Advertisement
Previous articleदमदार ऑफर: Used Bike के बदले मिल रहा हैं नया ई-स्कूटर, जानें पूरा ऑफर
Next articleWhatsApp पर आने वाले इस मैसेज से सावधान, Bank Account कर रहा हैं खाली